love and sad shayari in hindi

best love and sad shayari collection in hindi 

beautiful love shayariya hindi me 
new shayari collection 2018 

read best romantic love shayari 👍💏💑






लम्हे ये सुहाने साथ हो न हो,कल में आज ऐसी बात हो न हो,आपसे प्यार हमेशा दिल में रहेगा,चाहे पूरी उम्र मुलाकात हो न हो।


चलो माना कि हमें प्यार का इज़हार करना नहीं आता,जज़्बात न समझ सको इतने नादान तो तुम भी नहीं।


राह-ए-वफ़ा में इक ऐसा मुक़ाम भी आये,तेरे सिवा किसी और की जुस्तजू भी न रहे।



फासले तो बढ़ा रहे हो मगर इतना याद रखनाके मोहब्बत बार बार इंसान पर मेहरबान नहीं होती



तेरे सिवा कोई भी नाम पसंन्द नही दिल को,कुछ इस तरह से कब्जा किया है अदाओं ने तेरी



-शौंक नहीं है मुझे अपने जज़्बातों को यूँ सरेआम लिखने का …मगर क्या करूँ, अब जरिया ही ये है तुझसे बात करने का




साथ ना रहने से रिश्ते टूटा नहीं करते ,वक़्त की धुंध से लम्हे टूटा नहीं करते ,लोग कहते हैं कि मेरा सपना टूट गया,टूटी नींद है , सपने टूटा नहीं करते



जो तू साथ न छोड़े ता-उम्र मेरा ए मेहबूब मौत के फ़रिश्ते को भी इनकार न कर दूं तो कहना. इतनी कशिश है मेरी मुहब्बत की तासीर मेंदूर हो के भी तुझ पे असर न कर दूं तो कहना




ये आँखें हैं जो तुम्हारी , किसी ग़ज़ल की तरह खूबसूरत हैं…. कोई पढ़ ले इन्हें अगर इक दफ़ा तो शायर  हो जाए…!!


मुझसे नफरत करके भी खुश नारह पाओगे,मुझसे दूर जाकर भी पास ही पाओगे ,प्यार में दिमाग पर नहीं दिल पर ऐतबार करके देखिये ,अपने आप को रोम– रोम में बसा पाएँगे।


नशा था उनके प्यार का , जिसमें हम खो गए ,उन्हें भी पता नहीं चला कि कब हम उनके हो गए।


-हर शख्स को दिवाना बना देता है इश्कजन्नत की सैर करा देता है इश्क दिल के मरीज होतो कर लो महोब्बत हर दिल को धड़कना सिखा देता है इश्क




बहुत दिनों बाद तेरी महफ़िल में कदम रखा है ,मगर नजरो से सलामी देने का तेरा अंदाज़ नही बदला



हसीनो ने हसीन बनकर गुनाह किया,औरों को तो क्या हमको भी तबाह किया,पेश किया जब ग़ज़लों में हमने उनकी बेवफ़ाई को,औरों ने तो क्या उन्होने भी वाह-वाह किया.




अब तो गम सहने की आदत सी हो गयी हैरात को छुप – छुप रोने की आदत सी हो गयी हैतू बेवफा है खेल मेरे दिल से जी भर केहमें तो अब चोट खाने की आदत सी हो गयी है .



-
हर दिल का एक राज़ होता है,हर बात का एक अंदाज़ होता है ..जब तक ना लगे बेवफ़ाई की ठोकर ,हर किसी को अपनी पसंद पर नाज़ होता है..



अब तो गम सहने की आदत सी हो गयी हैरात को छुप – छुप रोने की आदत सी हो गयी हैतू बेवफा है खेल मेरे दिल से जी भर केहमें तो अब चोटखाने की आदत सीहो गयी है .



हाल अपने दिल का,मैं तुम्हें सुना नहीं पाती हूँ..जो सोचती रहती हूँ हरपल,होंठो तक ला नहीं पाती हूँ..बेशक बहुत मोहब्बत है,तुम्हारे लिए मेरे इस दिल में..पर पता नहीं क्यों तुमको,फिर भी मैं बतानहीं पाती हूँ..



-साथ अगर दोगे मुस्कराएंगे जरूर ,प्यार अगर दिल से करोगे तो निभाएंगे जरूर ,राह में कितने काँटे क्यों ना हो ,आवाज़ अगर दिल से दोगे तो आएँगे जरूर।



इस बात का एहसास किसी पर ना होने देना.., कि तेरी चाहतों से चलती है हैं मेरी साँसे।




मुझे किसी कि ज़रूरत नहीं … सिवाए तेरे मेरी नज़र को तलाश जिसकी बरसों से … किसी के पास वो सूरत नहीं … सिवाए तेरेजो मेरे दिल और ज़िन्दगी से खेल सके …. किसी को इतनी इजाजत नहीं … सिवाए तेर



तेरे चेहरे में मेरा नूर होगा … फिर तूँ ना कभी मुझसे दूर होगा सोच क्या ख़ुशी मिलेगी जान उस पल …. जिस पल तेरी माँग में मेरे नाम का सिंधूर होगा।




नज़रें मिले तो प्यार हो जाता है ,पलकें उठे तो इज़हार हो जाता है ,ना जाने क्या कशिश है चाहत में ,के कोई अनजान भी हमारी ज़िन्दगी का हक़दार हो जाता है।



-बदलना आता नहीं हमे मौसम की तरह,हर इक रुत में तेरा इंतज़ार करते हैं,ना तुम समझ सकोगे जिसे क़यामत तक,कसम तुम्हारी तुम्हे हम इतना प्यार करते हैं।



खुदा की रहमत में अर्जियाँ नहीं चलतीं दिलों के खेल में खुदगर्जियाँ नहीं चलतींचल ही पड़े हैं तो ये जान लीजिए हुजुर,इश्क़ की राह में मनमर्जियाँ नहीं चलतीं !



यूँ पलके बिछा कर तेरा इंतज़ार करते है ,ये वो गुनाह हैजो हम बार बार करते हैं ,जलकर हसरत की राह पर चिराग,हम सुबह और शामतेरे मिलने का इंतज़ार करते हैं।





जो बदनाम थे कलतक, आज वो सुखनवर हो गएजो थे कल तक बाहर, आज दिलोंके अंदर हो गएहम तो आज भी एक कतरा हैं रुके हुए पानी का,पर लोग देखते ही देखते, कतरेसे समंदर हो गए…



कितनी मोहोब्बत है मेरे दिल में तेरे खातिर तुझ से मिल कर ये बात बताना चाहता हूँ मैं



बना कर कुछ बिगाड़ना बहुत आसान है साहिब बिगाड़ कर कुछ बनाओ तो जानेये मोहोब्बत का खेल है, ज़िन्दगी दांव पर लगती है इस खेल में अव्वल आ कर दिखाओ तो मान


कुछ इस कदर तुमसे मेरी निग़ाह मिल गई,भटके राही को जैसे जन्नत की राह मिल गई।


-माँ सही या गलत नहीं होती है...माँ सिर्फ और सिर्फ माँ होती है...!!

ये नर्म मिज़ाजी है कि फूल कुछ कहते नहीं...वरना कभी दिखलाइये काँटोको मसलकर...!!


ज़िंदगी की उलझने शरारतो को कम कर देती है...और हम समझते है हम समझदार हो गए...!!



सौ गुना बढ़ जाती है खूबसूरती, महज़ मुस्कराने से...फिर भी बाज नही आते लोग मुँह फुलाने से...!!!



अहम ने एक वहम पाल रखा है...सारा कारवां मैंने ही संभाल रखा है...!!



पापा से ही बच्चों के ढेर सारे सपने है...पापा है तो बाज़ार के सब खिलौने अपने हैं...वो खुशनसीब होते है जिनके पापा साथ होते है...क्योंकि पापा के आशीषों के हजार हाथ होते है...!!





जुल्फों को हटा दे चेहरे से थोडासा उजाला होने दो,सूरज को जरा शरमिंदा कर, वो रात सा काला होने दो।



शिकवें आँखों से आँसू बन के गिर पड़े,वरना होठों से शिकायत कब की मैंने।





तीज है उमंगो कात्यौहार...फूल खिले है बागों में बारिश की है फुहार...दिल से आप सब को हो मुबारक प्यारा ये तीज का त्यौहार...!!


शीशा और पत्थर संग रहे तो बात नही घबराने की...शर्त इतनी है किबस दोनों ज़िद नाकरे टकराने की...!!





जब तक हम चुप रहकर सब बर्दास्त कर लेते है...तब तक ही हम दुनिया को अच्छे लगते है...!!




मंज़िले हमारे करीब से गुज़रती गयी जनाब,और हम औरो को रास्ता दिखाने में ही रह गये।




अजीब सी पहेलियाँ हैं मेरे हाथों की लकीरों में,लिखा तो है सफ़र मगर मंज़िल का निशान नहीं।



मोबाइल ई मेल ने,कैसा किया कमाल...क्या होता है डाकिया, बच्चे करें सवाल...!!


best romantic love shayari hindi me 👆👆

Share this

Related Posts

Previous
Next Post »